PPE (Personal Protective Equipment) क्या है ?

Share This Post

PPE (Personal Protective Equipment)
PPE (PERSONAL PROTECTIVE EQUIPMENT) Image by Jeff Stein from Pixabay

PPE, मतलब Personal Protective Equipment.

जैसा कि नाम से ही ज़ाहिर है Personal मतलब ख़ुद को, protective मतलब बचाने वाला, और Equipment मतलब उपकरण ।

PPE (Personal Protective Equipment) की परिभाषा

अगर इसको एक साथ समझने का प्रयास करें तो PPE यानि की Personal Protective Equipment एक प्रकार से ऐसे उपकरण या सुरक्षा सामग्री हैं जो व्यक्ति के शरीर को बाहरी अपघात जैसे कि चोट, संक्रमण आदि से बचाते हैं।

आजकल कोरोना का दौर चल रहा है और इसका खतरा हर एक व्यक्ति को है। आपने समाचारों मे सुना होगा की डॉक्टर को स्पेशल सूट पहनकर ही कोरोना के मरीज़ों का इलाज़ करना पड़ रहा है। यह स्पेशल सूट भी एक प्रकार का PPE ही है। इसके प्रयोग से वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है।

PPE (Personal Protective Equipment) के प्रकार

अगर देखा जाए तो हमारे मानव शरीर मे कई part हैं जिनकी सुरक्षा हमें करनी चाहिए। इसी आधार पर अगर देखें तो PPE को हम कई प्रकार बाँट सकते हैं। जैसे पूरे शरीर की सुरक्षा के लिए safety suit एक PPE है। इसी प्रकार सिर के लिए safety helmet, मुंह के लिए face mask, आँखों के लिए safety goggles, कान के लिए ear muff, हांथों के लिए hand gloves, पैरों के लिए safety shoe या safety boot इत्यादि।

ऊपर इतने सारे PPE देख कर भौचक्के मत हो जाना कि सारे के सारे आपको पहनने पड़ेंगे। ये तो बस एक छोटी सी लिस्ट है। इनके अतिरिक्त भी बहुत तरह के PPE मार्केट मे मौजूद हैं और इस्तेमाल मे लाये जाते हैं। आपको अपने कार्य और उसके दौरान होने वाले खतरों को समझ कर ही इन सुरक्षा उपकरणों का इस्तेमाल करना है। जहां जिस PPE की ज़रूरत पड़े वही आपको इस्तेमाल करना है। लगभग सारी industries, factories, hospitals, construction sites, आदि मे इनका बहुत इस्तेमाल होता है।

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि इन सुरक्षा उपकरणों, जिन्हें हम PPE या Personal Protective Equipment कह रहे हैं आपकी सुरक्षा के लिए कितने आवश्यक हैं। मास्क लगाएंगे तो वायरस के संक्रमण से बचेंगे, हेलमेट पहनेंगे तो गिरने के बाद भी सिर मे चोट नहीं लगेगी, safety harness belt लगाएंगे तो ऊँचाई से गिरने के बाद भी बचने के चांस रहेंगे। कुल मिला कर ये देख लीजिये कि PPE आपकी जान बचाने मे बहुत कारगर हैं।

जब इतने PPE हैं तो समस्या किस बात की है ?

Image by malateronald from Pixabay

जी हाँ, सही पढ़ा आपने। जब इतने सारे PPE हैं, तो समस्या किस बात की है ?

समस्या है ! समस्या इस बात की है कि लोग इनका या तो इस्तेमाल करना नहीं जानते या फिर इस्तेमाल करना ही नहीं चाहते।

PPE इस्तेमाल न करने वाले कुछ लोगों ने सोच ऐसी बना रखी है की वो अमृत पी कर आए हैं और उन्हे कुछ नहीं होगा। बिना हेलमेट, 120 किमी प्रति घंटा की स्पीड मे गाड़ी चलाएँगे, स्टंट करेंगे और सोचेंगे कि माईकल शुमाकर के बाद उनका ही नंबर आएगा। वो भूल जाते हैं कि उनका नंबर कहीं और का भी आ सकता है। 😀

फैक्ट्री या कन्स्ट्रकशन साईट मे काम करने वाले अगर ऊंचाई से गिर पड़े तो उनका टिकट कटना लगभग तय है। ये सब जानने के बावजूद भी वो safety harness belt नहीं पहनेंगे।

देखिये लोग PPE के साथ कैसे जीते हैं?

” यहाँ के हम सिकन्दर, जिसको चाहें कर लें अपनी जेब के अंदर ”

लोग PPE के प्रति इतने ही जागरूक हैं, जितना इस गाने मे है। कुछ भी कर लो यह सुधरने वाले नहीं हैं। इन्हे अपने और अपने शरीर की सुरक्षा का बिलकुल भी खयाल नहीं है। देखिये लोग PPE के साथ क्या क्या करते हैं?

  1. प्रक्रिया क्षेत्र (काम करने की जगह) मे हेलमेट नहीं पहनेंगे
  2. हेलमेट पकड़े रहेंगे मगर पहनेंगे नहीं
  3. किसी ने अगर बोल दिया हेलमेट पहन लो, तो पट्टे को बांधे बिना हेलमेट पहनेंगे
  4. प्रक्रिया क्षेत्र मे safety shoe नहीं पहनेंगे, उन्हे कुछ बोलो तो कहेंगे जूते फट गए हैं, आप खरीद दो
  5. कुछ लोग तो फटे हुये safety shoe ही पहन कर काम करने आ जाएंगे
  6. Hand Gloves (दस्ताने) नहीं पहनेंगे। ज्यादा बोलोगे तो फटे हुये gloves ले के आ जाएंगे
  7. कुछ लोग तो ऐसा सोचते हैं की एक बार gloves ले लिया तो उसे ज़िंदगी भर चलाएगे। expiry डेट से उनका कुछ भी लेना देना नहीं हैं
  8. जहां बहुत शोर होता है ऐसी जगह ear muff पहनना चाहिए। लोग यहाँ अपनी स्किल्स बताएँगे की वो काम मे इतने तल्लीन हैं कि उन्हे शोर सुनाई ही नहीं दे रहा। (वास्तव मे वो बहरे हो चुके होते हैं) 😀
  9. लोग कोरोना के डर से नहीं, पुलिस की मार की वजह से मास्क लगाएंगे। पुलिस के जाते ही मास्क हटा लेंगे
  10. अगर मास्क लगाना ज़रूरी हो गया तो गले मे लटकाएंगे मगर पहनेंगे नहीं। ऐसे मे आपको वो बहुत तरह के वैज्ञानिक तर्क देंगे। मगर पुलिस का डंडा खाते ही सारे तर्क निरर्थक लगेंगे।

अब आप समझ गए होंगे कि इन बातों का कोई अंत नहीं है। फिर भी लोगों को जागरूक रखना बहुत आवश्यक है। लोगों को यह जान लेना चाहिए कि मानव शरीर अमूल्य है और इसके साथ खिलवाड़ न ही करें तो बेहतर है। PPE व्यक्तिगत सुरक्षा के लिए ही हैं, इनके इस्तेमाल से आप अपने जीवन को अचानक होने वाले हादसों या अपघातों से बचा सकते हैं।

अगर आप कारखाने मे काम करते हैं, किसी कन्स्ट्रकसन साईट मे हैं, या अस्पताल मे काम करते हैं, तो PPEs के उपयोग को बढ़ाएँ साथ ही अपने सहयोगियों और आपके नीचे काम करने वाले लोगों को जागरूक करें, उन्हे motivate करें जिसे वो एक सुरक्षित परिवेश मे काम कर सकें और सुरक्षित घर वापस जा सकें।

PPEs का उपयोग करें, खुद को सुरक्षित रखें। ध्यान रखें घर पर आपका कोई इंतज़ार कर रहा है। 🙂


Share This Post

5 Comments

  1. Akash Verma
  2. DEEPA VERMA
  3. md firoz ansari
  4. Gyansheel sankhwar

Leave a Reply